मोहब्बत का मेरा सफर..hindi sayeri, dard sayeri

मोहब्बत का मेरा सफर आख़िरी है

मोहब्बत का मेरा सफर…. मोहब्बत का मेरा सफर आख़िरी है, ये कागज, कलम ये गजल आख़िरी है मैं फिर ना मिलूंगा कहीं ढूंढ लेना तेरे दर्द का ये असर आख़िरी है…!!        …


तिरंगे,desh bhakti sayeri, tiranga sayeri

तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता……

तिरंगे से खुबसुरत कोई कफन… तिरंगे से खुबसुरत… ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई , मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता , नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे…